Economics-Microeconomics & Macroeconomics | अर्थशास्त्र-व्यष्टि अर्थशास्त्र और समष्टि अर्थशास्त्र

Economics-Microeconomics & Macroeconomics  अर्थशास्त्र-व्यष्टि अर्थशास्त्र और समष्टि अर्थशास्त्र

Economics-Microeconomics & Macroeconomics | अर्थशास्त्र-व्यष्टि अर्थशास्त्र और समस्टी अर्थशास्त्र

We are aware that the basic economic problem at the level of an individual economic unit is the
problem of selection. This selection is associated with the sharing of alternative uses of scarce or
limited resources. Allocation of a consumer's fixed income in purchasing various goods and services.
He has to maximize his satisfaction. How does he do it?
As economists, can we study some basic principles associated with consumer behavior? Yes, we
have done this.
Microeconomics (व्यष्टि अर्थशास्त्र)-

When economic problems or economic issues are studied keeping in mind small economic units like individual consumers or individual producers, then we mean Microeconomics economics.

(जब आर्थिक समस्याओं अथवा आर्थिक मुद्दों का अध्ययन व्यक्तिगत उपभोक्ता या व्यक्तिगत उत्त्पादक जैसी छोटी आर्थिक इकाईयों को ध्यान में रख कर किया जाता है तब हमारा अभिप्राय व्यष्टि अर्थशास्त्र है.) 



We have created principles or have formed a set of principles or basic principles that
express consumer behavior. Consumers' own selection on demand for goods and services and
allocation of their income to various uses are some of the key issues by which we analyze consumer
behavior. A key component of visual economics.
(हमें विदित है कि  एक व्यक्तिगत आर्थिक इकाई के स्तर पर आधारभूत आर्थिक समस्या चयन की समस्या है.यह चयन
ही दुर्लभ या सीमित संसाधनों के वैकल्पिक उपयोगों में बटवारे से समन्धित है.एक उपभोक्ता को  विभिन्न वस्तुओं और
सेवाओं को खरीदने में अपनी निश्चित आय का आबंटन करना पड़ता है.उसे अपनी संतुष्टि अधिकतम करनी होती है.वह
इसे कैसे करता है?
अर्थशात्री होने के नाते क्या उपभोक्ता व्यवहार से समन्धित कुछ आधारभूत सिद्धांतों का अध्यन हम कर सकते हैं?हाँ
हमने ऐसा किया है.हमने सिद्धांतों का निर्माण किया है अथवा ऐसे सिद्धांतों या मूल तत्तो का समूह निर्मित किया है जो
उपभोक्ता व्यवहार को व्यक्त करते हैं. वस्तुओं और सेवाओं के लिए मांग तथा विभिन्न उपयोगों में अपनी आय के
आबंटन पर उपभोक्ता का अपना चयन कुछ ऐसे प्रमुख मुद्दे हैं जिनके अध्यन द्वारा हम उपभोक्ता व्यवहार का विश्लेषण
करते हैं.व्यष्टि अर्थशास्त्र का एक प्रमुख घटक है.)

A producer is another small economic unit. It also has to face the problem of selection. It has to
choose -
(a) That combination of input which he should use and
(b) The item that should be produced..
He should allocate his resources in such a way that he can maximize his benefits.
(एक उत्पादक एक अन्य छोटी आर्थिक इकाई है.इसे भी चयन की समस्या का सामना करना पड़ता है.उसे चयन करना
पड़ता है -
(a)आगत के उस संयोग का जिसका उसे प्रयाग करना चाहिए और 
(b)वह वास्तु जिसे उसका उत्पादन करना चाहिए। 
उसे अपने संसाधनों का आबंटन इस विधि से करना चाहिए की वह अपने लाभों को अधिकतम कर सके.)

The study of the behavior of the producer on the allocation of resources leads us to the theory of
production and those principles which are related to the supply of goods and services. This is also a
main component of microeconomics.
(संसाधनों के आवंटन पर निर्माता के व्यवहार का अध्ययन हमें उत्पादन के सिद्धांत और उन सिद्धांतों की ओर ले जाता है
जो वस्तुओं और सेवाओं की आपूर्ति से संबंधित हैं। यह भी सूक्ष्मअर्थशास्त्र का एक मुख्य घटक है।)

The most important components of microeconomics are-

(a) Theory of demand and consumer behavior
(b) Theory of fulfillment and productive behavior
(c) Production theories that explain how production is consistent with different combinations of inputs
(d) The principle of pricing, which explains how the prices of goods and services in different markets
are determined.
( सूक्ष्म अर्थशास्त्र के अत्यंत महत्वपूर्ण घटक हैं-
(a)मांग का सिद्धांत तथा उपभोक्ता व्यवहार 
(b)पूर्ति का सिद्धांत तथा उत्पादक व्यवहार 
(c)उत्पादन सिद्धांत जो यह व्यख्या करते हैं कि आगतों के विभिन्न संयोगों के अनुरूप उत्पादन कैसे है
(d)कीमत निर्धारण का सिद्धांत,जो व्यख्या करता है कि  विभिन्न बाज़ारों में वस्तुओं तथा सेवाओं की कीमतें कैसे
निर्धारित होती हैं).

Macroeconomics (समष्टि अर्थशास्त्र)-


Macroeconomics is primarily concerned with the determination of total production, total employment and the general price level in the economy.
(समष्टि अर्थशास्त्र का सम्बन्ध आधारिक रूप से अर्थव्यवस्था में कुल उत्त्पादन,कुल रोज़गार तथा सामान्य कीमत स्तर के निर्धारण से है.) 

Economics-Microeconomics & Macroeconomics  अर्थशास्त्र-व्यष्टि अर्थशास्त्र और समष्टि अर्थशास्त्र


Difference between macroeconomics and macroeconomics

1-Microeconomics is primarily concerned with the determination of production and price in an individual firm or industry.
The relation of macroeconomics is mainly the determination of total production and general price level in the entire economy.
(व्यष्टि अर्थशास्त्र मुख्यतः एक व्यक्तिगत फर्म अथवा उद्द्योग में उत्पादन तथा कीमत के निर्धारण से सम्बंधित है.समष्टि अर्थशास्त्र का सम्बन्ध मुख्य्तः संपूर्ण अर्थव्यवस्था में कुल उत्पादन तथा सामान्य कीमत स्तर के निर्धारण  है.)



2-The study of microeconomics holds that macro variables remain constant.
The study of macroeconomics holds that micro variables are constant.
(व्यष्टि अर्थशास्त्र के अध्ययन की यह मान्यता है की समष्टि चर स्थिर रहते हैं.
समष्टि अर्थशास्त्र के अध्ययन की यह मान्यता है की व्यष्टि चर स्थिर रहते हैं.)

3-Microeconomics studies economic relationships or economic problems at the individual level.
Macroeconomics studies economic relations or economic problems at the level of the
entire economy.
(माइक्रोइकॉनॉमिक्स व्यक्तिगत स्तर पर आर्थिक संबंधों या आर्थिक समस्याओं का अध्ययन करता है।
 मैक्रोइकॉनॉमिक्स के स्तर पर आर्थिक संबंधों या आर्थिक समस्याओं का अध्ययन करता है
 पूरी अर्थव्यवस्था।)



Thank you friends











Comments

Popular posts from this blog

दीपावली/दीवाली - 2019 | दीपावली का अर्थ | दिवाली 2019 कब है

Navratri 2019 | navratri date

latest mobile phones under 10000