Follow my blog with Bloglovin Ramayan ki shi jaankari ~ Indian Views

Ramayan ki shi jaankari

RAMAYAN

                                              -
यह एक विशेष धार्मिक हिन्दू ग्रंथ है।में कुल ७ कांड हैं।जिसे संत सरी तुलसीदास जी द्वारा लिखा गया है।मै इसमें उन्हीं सब घटनाओं के बारे में बताऊंगा।इसे मै कई पार्ट में लिखूंगा आशा करता हूं कि आप को यह बहुत पसंद आयेगा ।
                                       कांड-बालकाण्ड


भगवान श्री राम याद करके मै अपनी कथा आप सबको बताने जा रहा हूं।
          महाराज दशरथ जी जो कि भगवान राम के पिता है उनके कोई संतान नहीं हो रही थी तो बहुत परेशान होते है और फिर पुत्र की प्राप्ति के लिए एक महर्षि से मिलते है।तो वो उन्हें पुत्र प्राप्ति के लिए पुत्र प्राप्ति यज्ञ करवाने को कहते है।महाराज दशरथ इसके लिए राज़ी हो जाते है यज्ञ शुरू हो जाता और काफी दिनों तक चलता है और जब यज्ञ समाप्त होता तो महर्षि एक खीर का कटोरा राजा दशरथ को देते हुए कहते हैं कि इसे आप अपनी रानियों को खिला दीजिएगा।राजा दशरथ जी की तीन रानिया थी(कौशिल्या,सुमित्रा,कैकेई)।तीनों रानियां उस खीर को खाती है और कुछ दिनों बाद उनके पुत्र पैदा होते है जिनके नाम राम,भारत,लक्ष्मण और शत्रुघ्न।राजा दशरथ को बहुत प्रसन्नता होती पूरा अयोध्या(भगवान राम की जन्मूमि) खुशियां मानता है।
           फिर चारो भाइयों को शिक्षा दीक्षा के लिए गुरु के आश्रम भेजा जाता जहां उनको हर तरीके की विद्या प्राप्त होती है।और पुनः वो अयोध्या वापस आते हैं।

                                        सीता-राम विवाह


एक दिन विश्वामित्र जी अयोध्या आते है और वो श्री राम को अपने साथ अपने यज्ञ को पूरा करने हेतु लेकर जाते है और वहां वो बहुत से राक्षसों का विनाश करते हैं।और फिर इसी बीच वो राजा जनक के यहां पहुंचते है जहां उनकी मुलाकात माता सीता से होती और फिर राजा जनक के स्वयंवर में जाकर शिव जी का धनुष तोड़ते है और सीता जी और राम जी का विवाह संपन्न होता है और फिर वहां अहिल्या को तरते है।फिर वापस अयोध्या आते हैं।
                                         राम वन गमन


महारानी कैकेई के द्वारा अपने वचन मांगने पर राजा राम को वन जाना पड़ता है।राजा दशरथ ने महारानी कैकेई को दो वरदान देने का वादा किए रहते है तो वहीं वरदान रानी मगती हैं
१-राम को १४ वर्ष का वनवास
२-भरत को(उनके पुत्र) अयोध्या का राजपाठ
जिसे राम जी पूरा करने के लिए वन को जाते है और उनके साथ लक्ष्मण और पत्न्नी सीता भी जाती है।

                                                                              

                                                                               To be continued..


Previous
Next Post »

1 comments:

Click here for comments
Unknown
admin
September 17, 2019 at 10:55 PM ×

NIce

Congrats bro Unknown you got PERTAMAX...! hehehehe...
Reply
avatar

Please do not enter any spam link in the comment box. ConversionConversion EmoticonEmoticon